तो भारत के सिने जगत को जनभावनाओं की परवाह नहीं है। फिल्म पद्मावती के समर्थन में 15 मिनट के लिए शूटिंग बंद की।

#3317
तो भारत के सिने जगत को जनभावनाओं की परवाह नहीं है। फिल्म पद्मावती के समर्थन में 15 मिनट के लिए शूटिंग बंद की।
====
इसे दुर्भाग्यपूर्ण ही कहा जाएगा कि 26 नवम्बर को भारतीय सिने जगत से जुड़े लोगों ने फिल्म पद्मावती के समर्थन में 15 मिनट तक शूटिंग के काम को बंद रखा। यानि मुम्बई सहित देश-विदेश में किसी भी निर्माता निर्देशक ने फिल्म की शूटिंग का कोई कार्य नहीं किया। यह एकजुटता फिल्म सेंसर बोर्ड पर दबाव बनाने और देश के लोगों की भावनाओं की परवाह नहीं करने के लिए दिखाई गई। सब जानते हैं कि संजय लीला भंसाली द्वारा बनाई गई फिल्म पद्मावती का इन दिनों राजस्थान सहित पूरे देश में विरोध हो रहा है। हालांकि अभी सेंसर बोर्ड ने फिल्म को मंजूरी नहीं दी है, लेकिन माना जा रहा है कि यह फिल्म राजपूत समाज सहित सम्पूर्ण हिन्दू समाज की भावनाओं के विरुद्ध है। लोगों की भावनाओं का ख्याल करते हुए ही राजस्थान सहित अनेक राज्य सरकारों ने अपने यहां फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दी है। यदि सिने जगत के लोग अपनी किसी मांग को लेकर एकजुटता दिखाते तो कोई ऐतराज नहीं होता, लेकिन सिने जगत के लोग जनभावनाओं का मजाक उड़ाने के लिए एकजुटता दिखा रहे हैं। फिल्मों से जुड़े लोग यह अच्छी तरह समझ लें कि आम व्यक्ति ही उनके फिल्मों को बाॅक्स आॅफिस पर हिट करता है। यदि आम व्यक्ति फिल्मों को देखना बंद कर देगा तो फिल्म उद्योग का क्या होगा? जिन लोगों के दम पर निर्माता निर्देशक करोड़ों रुपए कमाते हैं उन लोगों की भावनाओं का भी ख्याल रखना चाहिए। यदि एक फिल्म डिब्बे में बंद रह जाएगी तो फिल्म उद्योग पर कौन सा पहाड़ टूट पडे़गा? इस उद्योग के पास तो कमाने के और भी जरिए हैं। लेकिन यदि देश के आम आदमी की भावनाएं आहत होती है तो फिल्म उद्योग को भारी पड़ेगा। जिस पद्मावती ने अपनी इज्जत के खातिर अग्निकुंड में कूद कर जान दे दी, वह पद्मावती किसी फिल्म में मनोरंजन का पात्र नहीं हो सकती है। सिने जगत यह भी समझे कि फिल्म के प्रदर्शन से कानून व्यवस्था के बिगड़ने की आशंका है, क्योंकि आंदोलन की अगुवाई करने वाली राजपूत करणी सेना ने खुले आम कहा है कि जिस सिनेमा घर में फिल्म का प्रदर्शन होगा, उसे आग के हवाले कर दिया जाएगा। फिल्म जगत को ऐसी कोई जिद नहीं करनी चाहिए जिससे देश का माहौल खराब होता हो।
एस.पी.मित्तल) (26-11-17)
नोट: फोटो मेरी वेबसाइट www.spmittal.in
https://play.google.com/store/apps/details? id=com.spmittal
www.facebook.com/SPMittalblog
Blog:- spmittalblogspot.in
M-09829071511 (सिर्फ संवाद के लिए)
================================
M: 07976-58-5247, 09462-20-0121 (सिर्फ वाट्सअप के लिए)