आखिर बुजुर्ग नागरिक एसएन गर्ग को मिला दस हजार रुपए का मुआवजा। आईएएस आरुषि मलिक ने अजमेर के कलेक्टर के पद पर रहते हुए किया था दुव्र्यवहार। गर्ग ने सीएम सहायता कोष में जमा कराई राशि।

#3328
आखिर बुजुर्ग नागरिक एसएन गर्ग को मिला दस हजार रुपए का मुआवजा। आईएएस आरुषि मलिक ने अजमेर के कलेक्टर के पद पर रहते हुए किया था दुव्र्यवहार। गर्ग ने सीएम सहायता कोष में जमा कराई राशि।
=====
राजस्थान की सीनियर आईएएस डाॅ. आरुषि मलिक ने अजमेर के कलेक्टर के पद पर रहते हुए वरिष्ठ नागरिक सत्यनारायण गर्ग के साथ जो दुव्र्यवहार किया उसकी एवज में अब सरकार ने गर्ग को दस हजार रुपए का मुआवजा दिया है। अजमेर के जिला कलेक्टर गौरव गोयल ने राज्य सरकार के निर्देशों पर यह राशि गर्ग के आईसीआईसीआई बैंक खाते में जमा करवा दी है। लेकिन गर्ग ने इस प्राप्त राशि को मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करवाने के लिए कलेक्टर गोयल को चैक सौंप दिया है। गर्ग का कहना है कि उनका मकसद आईएएस आरुषि मलिक को सबक सिखाना था, ताकि भविष्य में कोई भी अधिकारी किसी बुजुर्ग नागरिक के साथ दुव्र्यवहार नहीं करे। उन्होंने कहा कि दस हजार रुपए की राशि जरुरतमंदों के काम आएगी।
यह थी शिकायतः
अजमेर के पट्टी कटला निवासी गर्ग ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग नई दिल्ली को एक शिकायत की थी। इस शिकायत में कहा गया कि वे 23 अक्टूबर 2015 को भ्रष्टाचार के दो मामलों में पत्र देने के लिए कलेक्टर आरुषि मलिक से मिलने गए थे, लेकिन पहले तो कलेक्टर ने डेढ़ घंटे तक अपने दरवाजे के बाहर खड़े रखा और जब मुलाकात के लिए बुलाया तो दोनों पत्रों को फेंकते हुए बाहर चले जाने के आदेश दिए। गर्ग ने कहा कि एक आईएएस का यह कृत्य शोभनीय नहीं है। इसलिए उन्होंने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के समक्ष पूरे प्रकरण को रखा। आयोग ने इस संबंध में राजस्थान के मुख्य सचिव और आईएएस मलिक से भी जवाब तलब किया। दोनों पक्षों को सुनने के बाद आयोग ने आईएएस मलिक के व्यवहार को गैर जिम्मेदाराना माना। आयोग ने मुख्य सचिव को निर्देश दिए कि बुजुर्ग नागरिक गर्ग के मौलिक अधिकारों का सम्मान करते हुए दस हजार रुपए का मुआवजा दिया जाए। इसमें कोई दो राय नहीं कि गर्ग ने अपने अधिकारों के लिए जो संघर्ष किया वह सभी के लिए प्रेरणादायक है। इस संघर्ष के लिए गर्ग को मोबाइल नम्बर 9829260826 पर बधाई दी जा सकती है।
एस.पी.मित्तल) (28-11-17)
नोट: फोटो मेरी वेबसाइट www.spmittal.in
https://play.google.com/store/apps/details? id=com.spmittal
www.facebook.com/SPMittalblog
Blog:- spmittalblogspot.in
M-09829071511 (सिर्फ संवाद के लिए)
================================
M: 07976-58-5247, 09462-20-0121 (सिर्फ वाट्सअप के लिए)