अब दिल्ली में फंस गई फिल्म पद्मावती। ====

#3337
अब दिल्ली में फंस गई फिल्म पद्मावती।
====
निर्माता निर्देशक संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म अब दिल्ली में फंस गई है। 30 नवम्बर को इस फिल्म को लेकर दिल्ली में संसदीय समिति और पिटीशन कमेटी की बैठकें हुई। इन दोनों ही बैठकों में यह माना गया कि पहले फिल्म की समीक्षा की जाएगी और समीक्षा इतिहासकार करेगें। अब फिल्म की समीक्षा कब होगी यह भगवान ही जानता है। पिटीशन कमेटी की बैठक में सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी, चित्तौड़ के सांसद सीपी जोशी, कोटा के सांसद ओम बिड़ला के साथ-साथ सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। सांसद सीपी जोशी का बैठक में साफ-साफ कहना रहा कि इस फिल्म को लेकर पूरे राजस्थान में राजपूत समाज आंदोलन कर रहा है। ऐसे में फिल्म में ऐसा कोई दृश्य नहीं होना चाहिए जो वीरांगना पद्मावती के सम्मान को कम करता हो। जोशी ने कहा कि हमें लोगों की भावनाओं का ख्याल भी रखना चाहिए। बैठक में सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने कहा कि अभी इस फिल्म को अनुमति ही नहीं दी गई है। उन्होंने कहा कि सेंसर बोर्ड विस्तृत समीक्षा के बाद ही अनुमति देगा। बैठक में जोशी ने सेंसर बोर्ड की अनुमति से पहले ही मीडिया के एक वर्ग को फिल्म दिखाए जाने पर नाराजगी जताई। इस बैठक के बाद सांसद अनुराग ठाकुर की अध्यक्षता में संसदीय समिति की बैठक हुई। इस बैठक में ठाकुर का कहना रहा कि किसी भी निर्माता को इतिहास के साथ छेड़छाड़ की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस बैठक में निर्माता-निर्देशक भंसाली भी उपस्थित रहे।
हालांकि उन्होंने बार-बार कहा कि उनकी फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी और पद्मावती के प्रेस प्रसंग के दृश्य नहीं है और पूरी फिल्म रानी पद्मावती के शौर्य और वीरता पर फिल्माई गई है। इसके विपरीत अलाउद्दीन खिलजी को एक आक्रमणकारी और स्त्री लोलुप दिखाई गया है। लेकिन भंसाली के कथन पर किसी ने भी विश्वास नहीं किया और सर्वसम्मिति से यह तय किया गया कि इतिहासकारों की समीक्षा के बाद ही फिल्म के प्रदर्शन पर कोई निर्णय होगा। यानि जो पद्मावती फिल्म पहले मुम्बई के सेंसर बोर्ड में फंसी हुई मानी जा रही थी वह अब दिल्ली में सांसद के बीच फंस गई है।
एस.पी.मित्तल) (30-11-17)
नोट: फोटो मेरी वेबसाइट www.spmittal.in
https://play.google.com/store/apps/details? id=com.spmittal
www.facebook.com/SPMittalblog
Blog:- spmittalblogspot.in
M-09829071511 (सिर्फ संवाद के लिए)
================================
M: 07976-58-5247, 09462-20-0121 (सिर्फ वाट्सअप के लिए)