फारुख अब्दुल्ला खुद क्यों नहीं फहराते लाल चैक पर तिरंगा? हर बार अपने ही देश को चिढ़ाने वाला बयान। हिम्मत हो तो बिना सुरक्षा के घूम कर दिखाएं श्रीनगर में।

#3326
फारुख अब्दुल्ला खुद क्यों नहीं फहराते लाल चैक पर तिरंगा? हर बार अपने ही देश को चिढ़ाने वाला बयान। हिम्मत हो तो बिना सुरक्षा के घूम कर दिखाएं श्रीनगर में।
======
लम्बे अर्से तक जम्मू कश्मीर के सीएम और केन्द्र में मंत्री रहे फारुख अब्दुल्ला ने कहा है कि जो लोग पाक अधिकृत कश्मीर को अपने कब्जे में लेने की बात करते हैं वे पहले भारत के कश्मीर के श्रीनगर के ऐतिहासिक लाल चैक पर तो तिरंगा फहरा कर दिखाएं। कश्मीर और उसका श्रीनगर व लाल चैक भारत का अभिन्न अंग है, ऐसे में वहां तिरंगा फहराया जाना चाहिए, लेकिन वर्तमान हालातों में लाल चैक पर तिरंगा फहराना कितना कठिन है, इस सच्चाई को फारुख अब्दुल्ला अच्छी तरह जानते हैं। पहले पिता शेख अब्दुल्ला फिर स्वयं फारुख अब्दुल्ला तथा अंत में पुत्र अमर अब्दुल्ला ने सीएम का पद संभाला है। अब्दुल्ला खानदान ने जिस तरह शासन किया उसी का परिणाम है कि आज लाल चैक पर तिरंगा फहराना कठिन हो गया है। इन हालातों को पैदा भी अब्दुल्ला खानदान ने ही किया है। इस खानदान के शासन में ही कश्मीर घाटी से चार लाख हिन्दुओं को पीट-पीट कर भगा दिया गया। आज जब कश्मीर घाटी हिन्दू विहीन हो गई है, तब फारुख अब्दुल्ला लाल चैक में तिरंगा फहराने की चुनौती दे रहे हैं। फारुख खुद श्रीनगर के सांसद हैं। संसद में भारतीय संविधान की शपथ लेने वाले फारुख खुद लाल चैक पर तिरंगा नहीं फहरा सकते? इतना ही नहीं देश की जनता जो टैक्स देती है उसी से फारुख ने जेडप्लस की सुरक्षा ले रखी है। यानि इतनी सुविधा प्राप्त करने के बाद भी फारुख हर बार देश को चिढ़ाने वाला बयान देते हैं। फारुख भी अच्छी तरह जानते हैं कि हमारे सुरक्षा बल अपनी जान जोखिम में डाल कर कश्मीर को बचाए हुए हैं। फारुख अब्दुल्ला इन दिनों जिस तरह पाकिस्तान के पैरोकार बने हुए हैं उसी पाकिस्तान में प्रशिक्षित आतंकी आए दिन हमारे कश्मीर में हिंसक वारदातें कर रहे हैं। यदि फारुख अब्दुल्ला लाल चैक में तिरंगा फहराने की चुनौती देते हैं तो उनमें हिम्मत हो तो अपने निर्वाचन क्षेत्र श्रीनगर में बिना सुरक्षा के घूमकर दिखाएं। जो सांसद अपने निर्वाचन क्षेत्र में बिना सुरक्षा के घूम नहीं सकता वह लाल चैक पर तिरंगा फहराने की चुनौती दे रा है। फारुख अब्दुल्ला को कुछ तो शर्म आनी चाहिए। सब जानते हैं कि फारुख अब्दुल्का अब विपक्ष में होते हैं तो इंग्लैंड में रहते हैं। कभी कभार घूमने के लिए भारत में आ जाते हैं। जब आते हैं तो अपने ही देश को चिढ़ाने वाला काम करते हैं।
एस.पी.मित्तल) (28-11-17)
नोट: फोटो मेरी वेबसाइट www.spmittal.in
https://play.google.com/store/apps/details? id=com.spmittal
www.facebook.com/SPMittalblog
Blog:- spmittalblogspot.in
M-09829071511 (सिर्फ संवाद के लिए)
================================
M: 07976-58-5247, 09462-20-0121 (सिर्फ वाट्सअप के लिए)